• Tue. Jun 25th, 2024

शुक्ल पक्ष या कृष्ण पक्ष के दिन जिस व्यक्ति की मृत्यु होती है उनका तीसरे दिन किया जाता है श्राद्ध, जानिए श्राद्ध पक्ष पूजा विधि …

ByCreator

Sep 12, 2022    150815 views     Online Now 312

रायपुर. श्राद्ध संबंधित शास्त्र पद्म पुराण, लिंग पुराण, मत्स्य पुराण, अग्नि पुराण व मदन पारीजात के अनुसार जब कभी जिस भी व्यक्ति की मृत्यु तृतीय तिथि (शुक्ल पक्ष कृष्ण पक्ष) के दिन होती हैं उनका श्राद्ध इसी दिन किया जाता हैं.

श्राद्ध पक्ष पूजा विधि

सामग्री: कुशा, कुशा का आसन, काली तिल, गंगा जल, जनैउ, ताम्बे का बर्तन, जौ, सुपारी, कच्चा दूध.

सबसे पहले स्वयं को पवित्र करते हैं जिसके लिए खुद पर गंगा जल छिड़कते हैं उसके उपरांत कुशा को अनामिका (रिंग फिंगर) में बाँधते हैं. जनेऊ धारण करे, ताम्बे के पात्र में फूल, कच्चा दूध, जल ले अपना आसान पूर्व पश्चिम में रखे व कुशा का मुख पूर्व दिशा में रखे हाथों में चावल एवं सुपारी लेकर भगवान का मनन करे उनका आव्हान करे. दक्षिण दिशा में मुख कर पितरो का आव्हान करें, इसके लिए हाथ में काली तिल रखे.

अपने गोत्र का उच्चारण करें साथ ही जिसके लिए श्राद्ध विधि कर रहे हैं उनके गोत्र एवम नाम का उच्चारण करें और तीन बार तर्पण विधि पूरी करें अगर नाम ज्ञात न हो तो भगवान का नाम लेकर तर्पण विधि करें.

तर्पण के बाद धूप डालने के लिए कंडा ले, उसमें गुड़ एवम घी डाले. बनाये गए भोजन का एक भाग धूप में दे उसके आलावा एक भाग गाय, कुत्ते, कौए, पीपल एवं देवताओं के लिए निकाले. इस प्रकार भोजन की आहुति के साथ विधि पूरी की जाती है.

See also  T20 World Team :टी20 वर्ल्ड कप के लिए इस तारीख को होगा टीम का ऐलान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

NEWS VIRAL