• Wed. Feb 28th, 2024

बचत योजनाओं पर अब मिलेगा

ByCreator

Dec 30, 2023    150810 views     Online Now 137

Small Saving Schemes | नए साल से पहले केंद्र सरकार ने छोटी बचत योजनाओं में पैसा लगाने वाले आम निवेशकों को बड़ा तोहफा दिया है। केंद्र सरकार ने जनवरी-मार्च 2024 के लिए कुछ छोटी बचत योजनाओं ( Small Saving Scheme ) पर अधिक ब्याज देने का फैसला किया है। इस प्रकार, इन उपकरणों पर ब्याज दरें लगातार छठी तिमाही में बढ़ाई गई हैं। सरकार लघु बचत योजनाओं के लिए ब्याज दर तय करती है लेकिन यह सरकारी प्रतिभूतियों की बाजार उपज से जुड़ी होती है।

Small Saving Schemes Interest Rate


Small Saving Schemes Interest Rate

Small Saving Schemes Interest Rate

नए साल से पहले केंद्र सरकार ने छोटी बचत योजनाओं में पैसा लगाने वाले आम निवेशकों को बड़ा तोहफा दिया है। केंद्र सरकार ने जनवरी-मार्च 2024 के लिए दो छोटी बचत योजनाओं पर अधिक ब्याज देने का फैसला किया है।

इस प्रकार, इन उपकरणों पर ब्याज दरें लगातार छठी तिमाही में बढ़ाई गई हैं। वित्त मंत्रालय ने आज इससे जुड़ा नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. इस अधिसूचना के मुताबिक, तीन साल की अवधि वाली जमा पर ब्याज दर 10 आधार अंक यानी 0.10 फीसदी बढ़कर 7.0 फीसदी से 7.1 फीसदी हो गई है |

वहीं, मार्च तिमाही के लिए सुकन्या समृद्धि खाता योजना की ब्याज दर भी 20 आधार अंक यानी 0.20 फीसदी बढ़ाकर 8 फीसदी से 8.2 फीसदी कर दी गई है. पीपीएफ, केवीपी और एनएससी समेत अन्य छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

लघु बचत योजनाओं की जनवरी-मार्च 2024 के लिए ब्याज दरें

  • बचत जमा : 4.0%
  • एक साल की जमा : 6.9%
  • दो साल की जमा : 7.0%
  • तीन साल की जमा : 7.1%
  • पांच साल की जमा : 7.5%
  • पांच साल की आवर्ती जमा : 6.7%
  • वरिष्ठ नागरिक बचत योजना : 8.2%
  • मासिक आय खाता : 7.4%
  • राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (एनएससी) : 7.7%
  • सार्वजनिक भविष्य निधि (पीपीएफ) : 7.1%
  • किसान विकास पत्र (KVP) : 7.5% (115 महीने)
  • सुकन्या समृद्धि खाता योजना : 8.2%

छोटी बचत पर ब्याज दरें कैसे तय की जाती हैं?

छोटी बचत योजनाओं ( Small Saving Schemes ) के लिए ब्याज दर सरकार द्वारा तय की जाती है लेकिन यह सरकारी प्रतिभूतियों की बाजार उपज से जुड़ी होती है। इन योजनाओं की ब्याज दर उसी अवधि की प्रतिभूतियों की पैदावार से तय होती है। जब यह उपज बढ़ती या घटती है तो छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर भी उसी दिशा में बढ़ती है। इन योजनाओं पर ब्याज दरें हर तिमाही तय की जाती हैं।

Business Opportunity : इस दिवाली हम लाए है कम लागत में बेहतरीन मुनाफा वाले बिज़नेस आईडिया

Related Post

दर्दनाक हादसे में 2 युवतियों की मौत: धान से भरे ट्रक ने कुचला, कुछ दिन बाद होने वाली थी शादी
MP Morning News: लोकसभा चुनाव को लेकर दिल्ली में आज बड़ी बैठक, पीएम किसान उत्सव दिवस, सम्मान निधि की 16वीं किस्त होगी जारी, भोपाल समेत छह शहरों में चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें 
इन सांसदों का कट सकता है टिकट: लोकसभा चुनाव को लेकर कल दिल्ली में बड़ी बैठक, प्रत्याशियों के नामों पर लग सकती है मुहर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed

NEWS VIRAL