• Fri. Apr 19th, 2024

इंदौर के जिस जगह बावड़ी पर हुआ हादसा, वहां दोबारा स्थापित किया जाएगा मंदिर, सीएम शिवराज का बड़ा बयान – Achchhi Khabar, हिंदी न्यूज़, Hindi Samachar

ByCreator

Apr 7, 2023    150815 views     Online Now 279

अमृतांशी जोशी,भोपाल। इंदौर के बेलेश्वर महादेव झूलेलाल मंदिर में रामनवमी पर बावड़ी की छत धंसकने से 36 लोगों की मौत हो गई थी। जिसके बाद प्रशासन ने अवैध निर्माण तोड़ दिया था। क्योंकि मंदिर काफी पुराना था और लोगों की इससे आस्था जुड़ी हुई थी। ऐसे में मंदिर के आसपास के रहवासियों में इसे लेकर काफी नाराजगी भी देखने को मिली। मंदिर तोड़े जाने से आक्रोशित स्थानीय रहवासी जय श्री राम के नारे लगाते हुए कलेक्टर ऑफिस पहुंचे और कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा और मंदिर को नए सिरे से बनाए जाने की मांग की।

Indore News: बेलेश्वर महादेव मंदिर में बुलडोजर चलाने के विरोध में हनुमान चालीसा का किया गया पाठ, बावड़ी धंसने से 36 लोगों की गई थी जान

इधर सीएम शिवराज ने आज भोपाल में कहा, इंदौर की दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बाद हमने उस बावड़ी को भर दिया, लेकिन वह मंदिर बहुत पुराना था। छोटा था, लेकिन पुराना था, कई वर्षों से वहां श्रद्धालुजन पूजा कर रहे थे। पूरे विधि-विधान और पूजा के साथ प्रतिमा दूसरे स्थान पर मंदिर में स्थापित की गई। लेकिन मुझे ये उचित लगता है कि पूरी तरह से सुरक्षित रखते हुए… सामंजस्य और सद्भाव के साथ एक बार फिर से मंदिर स्थापित कर दिया जाए ताकि कॉलोनीवासी वहां फिर से पूजा और अर्चना कर सकें।

इंदौर बावड़ी हादसा: वकील ने हाईकोर्ट में दायर की जनहित याचिका, CBI जांच और दोषियों पर कार्रवाई की मांग

शिवराज ने कहा कि मंदिर में जो हादसा हुआ उसके बाद विधिवत तरीके से मूर्तियां दूसरी जगह स्थापित की गई थी। लेकिन वहाँ के लोगों की मांग को सुनते हुए और सामाजिक समरसता बनाए रखने के लिए हमने तय किया है कि दोबारा से हादसे वाली जगह पर मंदिर बनाया जाएगा और मूर्तियां स्थापित की जाएगी। 

इंदौर हादसे के बाद एक्शन: सीएम शिवराज ने बावड़ी कुएं और खुले बोर चिन्हित करने के दिए निर्देश, कहा- सबकी सूची बनाएं, बोर खुले दिखे तो तत्काल FIR दर्ज करें

सीएम ने कहा कि इंदौर में जो घटना हुई उसके बाद हमने तय किया था कि सभी कुएँ और बावड़ी का सर्वे किया जाएगा। सर्वे की शुरुआत भी हुई थी लेकिन हमारे वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने सुझाव दिया कि इन्हें ख़त्म करना कोई विकल्प नहीं है। बल्कि ऐसे जलस्रोतों को संरक्षित करके रखना बहुत ज़रूरी है। इसलिए अब हमने तय किया है कि ऐसे बावड़ी और कुओं को सुरक्षित कर वहाँ के स्रोत को संरक्षित किया जाएगा। बता दें, रामनवमी पर बावड़ी की छत धंसकने से 60 लोग पानी में गिर गए थे। अभी भी 20 लोगों का अस्पताल में इलाज जारी है। 

SHIVRAJ SINGH

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Post

पूर्व सीएम डॉक्टर रमन सिंह के प्रमुख सचिव रहे अमन सिंह के खिलाफ दर्ज केस कोर्ट ने किया बंद, EOW-ACB की क्लोजर रिपोर्ट के बाद फैसला
शादी कार्ड बांटने गए युवक की ट्रेन से कटकर हुई मौत, ग्रामीण हत्या की जता रहे हैं आशंका…
हैदराबाद में BJP कैंडिडेट का मस्जिद की तरफ इशारा…और मच गया बवाल, भड़के ओवैसी | BJP candidate points towards mosque in Hyderabad creates ruckus Owaisi gets angry

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed

NEWS VIRAL