• Fri. Jun 14th, 2024

अंकित तिवारी, बरेली (रायसेन)। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के रायसेन जिले के बरेली (Bareilly) में सोमवार को संजीवनी अस्पातल (Sanjeevani Hospital) में एक नवजात शिशु की मौत हो गई। जिसके बाद परिजनों अस्पातल में जमकर हवाल किया। परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ बरेली थाने में मामले की शिकायत दर्ज कराया गया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

एमपी के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी के गृह जिले के इस नगर में निजी अस्पतालों को स्वास्थ्य विभाग की मान्यता पर लगातार सवाल उठते रहे हैं। आरोप लगते रहे हैं कि बिना निर्धारित मापडंडों का पालन किए स्वास्थ्य विभाग बड़े स्तर पर लेनदेन करके यहां निजी अस्पतालों को मान्यता दे रहा है। बीच बीच में इन अस्पतालों में घटित अप्रिय घटनाएं लोगों की इस धारणा को बल दे देती हैं। नगर के संजीवनी अस्पताल में एक नवजात शिशु की मौत के बाद हुए बवाल ने एक बार फिर निजी अस्पतालों को मान्यता पर सवाल खड़े किए हैं।

ओंकारेश्वर में नर्मदा नदी में पलटी नाव: 6 लोग डूबे, दो साल के मासूम की मौत, एक की तलाश जारी

यह है मामला

बरेली नगर के किनगी रोड पर रहने वाली सुखबती बाई पति राजाराम सोनी ने बताया कि उन्होंने अपनी बहू वंदना सोनी पति राहुल सोनी उम्र 23 वर्ष को पेट में दर्द होने पर रविवार को नगर के संजीवनी अस्पताल में प्रसूति के लिए भर्ती कराया। उन्हें डॉक्टर ने बताया कि नार्मल डिलेवरी हो जाएगी। फीस जमा कर दो। जिसके बाद उन्होंने 14 हजार 800 जमा करा दिए। बहू का इलाज चलता रहा। शाम 6 बजे डॉक्टर ने कहा कि वे डिलेवरी के लिए डिलेवरी वार्ड में ले जा रहे हैं। वे बहू को डिलेवरी वार्ड में ले गए।

See also  भाजपा हर चीज बड़ी करती है

MP में नर्सिंग कॉलेज फर्जीवाड़ा मामला: सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच और परीक्षाओं पर लगी रोक रखी बरकरार

रात में करीब साढ़े आठ बजे डॉक्टर ने उनके पास आकर कहा कि बच्चा बहुत कमजोर है। बच्चे को इलाज के लिए रायसेन ले जाना है और पांच हजार रुपए और जमा करने को कहा। डॉक्टर ने यह भी नहीं बताया कि लड़का हुआ है या लड़की। रुपए जमा करने के बाद परिजन अस्पताल की एंबुलेंस से बच्चे को लेकर रायसेन के लिए रवाना हो गए। बाडी में एंबुलेंस में बैठी नर्स ने बताया कि बच्चा खत्म हो गया है। वापस बरेली में अस्पताल आए तो वहां कोई नहीं मिला। जिसके बाद परिजनों पर अस्पताल में जमकर हंगामा किया और मामले की शिकायत बरेली थाने में कराई गई है। शिकायत के आधार पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

MP की सियासत: सुरेश पचौरी ने CM शिवराज पर बोला हमला, कहा- सीएम के चहेते बन गए रेत माफिया, उनके जिले में ही किसान परेशान

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

NEWS VIRAL