• Wed. Feb 28th, 2024

भोपाल। मध्य प्रदेश में नए मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव के शपथ ग्रहण के बाद सभी की निगाहें मंत्रिमंडल पर टिकी हुई है। कैबिनेट में लोकसभा सीटों को कवर करने का फॉर्मूला लागू हो सकता है। बताया जा रहा है कि एमपी विधानसभा के शीतकालीन सत्र के बाद मोहन मंत्रिमंडल के विस्तार किया जा सकता है।

मोहन यादव की कैबिनेट में लोकसभा सीट का फॉर्मूला लागू हो सकता है। मंत्रिमंडल में लोकसभा चुनाव के चलते फॉर्मूले पर मंथन किया जा रहा है। लोकसभा सीटों के गणित से Cabinet विस्तार अटका हुआ है। मंत्रिमंडल छोटा रहेगा, इसलिए अधिक उलझन हो रही है। विधानसभा सत्र के बाद एमपी मंत्रिमंडल के विस्तार की अटकलें लगाई जा रही है।

बदले जाएंगे बीजेपी प्रदेश प्रभारी! मुरलीधर राव की होगी विदाई, 22 और 23 दिसंबर को दिल्ली में बीजेपी की बड़ी बैठक

इन चार फॉर्मूलों के तहत हो सकता हैं गठन

यह भी बताया जा रहा है कि इस बार नए पुराने चेहरों को मौका दिया जा सकता है। दूसरा इस बार हर लोकसभा सीट से एक नेता को मंत्री बनाया जा सकता है। तीसरा, जातिगत समीकरण साधने के लिए सभी वर्गों को प्रतिनिधित्व मिल सकता है। चौथा, सांसदी छोड़कर आए नेताओं को भी कैबिनेट में जगह मिल सकती हैं।

मंत्रिमंडल हो सकते हैं चौंकाने वाले नाम

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 में शिवराज सरकार के 33 में से 31 मंत्रियों को टिकट दिया गया था। जिसमें से 12 मंत्री इस बार चुनाव हार गए हैं। ऐसे में अटकलें लगाई जा रही हैं कि मंत्रिमंडल में चौंकाने वाले नामों पर सहमति बन सकती है। मोहन मंत्रिमंडल में कुछ पुराने चेहरों को शामिल किया जा सकता है। वहीं शिवराज कैबिनेट में शामिल कई चेहरों को बाहर किया जा सकता है।

सीएम ने समीक्षा बैठक में जताई नाराजगी: अधिकारियों के दिए अहम निर्देश, हुकुमचंद मिल के मजदूरों को मिलेगा बकाया पैसा, शिप्रा नदी का होगा शुद्धिकरण

इन्हें बनाया जा सकता हैं मंत्री

प्रदेश में 15 से 18 मंत्री बनाए जा सकते हैं। उसके बाद जरुरत पड़ने पर विस्तार किया जा सकता है। कैबिनेट विस्तार की सूची लगभग तैयार कर ली गई है। जिसमें प्रहलाद पटेल, कैलाश विजयवर्गीय, राकेश सिंह, रीति पाठक राव उदय प्रताप सिंह, गोविंद राजपूत, भूपेंद्र सिंह, तुलसी सिलावट जैसे बड़े नाम लिस्ट में शामिल है।

सिंधिया समर्थकों के कट सकते हैं नाम!

इस बार की कैबिनेट में सिंधिया समर्थक विधायकों के चेहरे कम दिखाई दे सकते हैं। सिंधिया समर्थक विधायकों के नाम कट सकते है। मंत्रिमंडल में क्षेत्रीय और जाति समीकरण को देखकर कैबिनेट का विस्तार किया जा सकता हैं।

मंत्रिमंडल विस्तार पर भगवानदास सबनानी का बयान, कहा- जल्द तस्वीर होगी साफ; कांग्रेस बोली- BJP करती है यूज एंड थ्रो

विधानसभा सत्र के बाद होगा कैबिनेट का विस्तार

एमपी विधानसभा का शीतकालीन सत्र जारी है। बताया जा रहा है कि सत्र के बाद कैबिनेट का विस्तार किया जाएगा। वहीं कल पूर्व केंद्रीय मंत्री व नरसिंहपुर से बीजेपी विधायक प्रहलाद सिंह पटेल ने कहा कि था मेरे अनुभव के हिसाब से बीच सदन में कैबिनेट का विस्तार नहीं होता, बाकी देखो क्या होता है। जिसके बाद से कयास लगाए जा रहे है कि विधानसभा सत्र के बाद ही मोहन मंत्रिमंडल का विस्तार होगा।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Post

दर्दनाक हादसे में 2 युवतियों की मौत: धान से भरे ट्रक ने कुचला, कुछ दिन बाद होने वाली थी शादी
MP Morning News: लोकसभा चुनाव को लेकर दिल्ली में आज बड़ी बैठक, पीएम किसान उत्सव दिवस, सम्मान निधि की 16वीं किस्त होगी जारी, भोपाल समेत छह शहरों में चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें 
इन सांसदों का कट सकता है टिकट: लोकसभा चुनाव को लेकर कल दिल्ली में बड़ी बैठक, प्रत्याशियों के नामों पर लग सकती है मुहर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed

NEWS VIRAL