• Tue. Feb 27th, 2024

Lumpy Virus in MP: एमपी में लंपी वायरस का कहर, 10 जिलों में करीब 2170 पशु संक्रमित, बुरहानपुर जिले में 489 और मंदसौर में 251 गौ-वंश वायरस से पीड़ित

ByCreator

Sep 10, 2022    150812 views     Online Now 229

मोसीम तडवी/प्रीत शर्मा, बुरहानपुर/मंदसौर। राजस्थान में कहर बरपा रहा लंपी वायरस(Lumpy Virus) अब मध्यप्रदेश में भी गौ वंशों पर कहर बनकर टूटना शुरू कर दिया है। एमपी के 10 जिलों में लंपी वायरस ने प्रकोप दिखा रहा है। 10 जिलों में करीब 2170 पशु लंपी वायरस से संक्रमित हैं। वहीं अबतक 16 पशुओं के मौत की खबर है। अकेले बुरहानपुर जिले में ही सरकारी रिकॉर्ड के मुताबिक 489 गौ-वंश लंपी वायरस से संक्रमित है। वहीं मंदसौर के 135 गांवों में 251 पशुओंं में संक्रमण मिला है।

एमपी में लंपी वायरस को लेकर अलर्टः सरकार ने जारी किया इमरजेंसी नंबर 0755-2767583, प्रदेश के 10 जिलों में 16 दुधारू पशुओं की मौत

बुरहानपुर जिले में लंपी वायरस का खतरा बढ़ता जा रहा है। जिले में 489 गौ-वंश लंपी वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। उसमें से 453 गौ वंश में सुधार हुआ है। इससे निपटने के लिए जिला प्रशासन ने गुजरात से टिका मंगवाया है। सभी गौ-वंश को टीके लगाने का काम भी शुरू हो चुका है। गौ-वंश बीमार हो रहे हैं। इस बीमारी के लक्षण गौ-वंश के शरीर पर गठान होना उसके बाद गठान फोडे में तब्दील हो जा रहे हैं। फोड़ा फूटने के बाद उसमें से खून बहने लगता है। गायो की तड़प-तड़कर मौत हो जाती है।

Lumpy Skin Disease: एमपी के पड़ोसी राज्यों में लम्पी स्किन डिजीज का कहर, सरकार ने पशु बिक्री, प्रदर्शनी और खेल पर लगाया प्रतिबंध, जानें इस वायरस के लक्षण और बचाव के तरीके

जिले में लंपी वायरस का असर दूध पर भी पड़ा है। वायरस से संक्रमित गायों का लोग दूध नहीं ले रहे हैं। दुधारू गायों की मौत भी हुई है। जिला प्रशासन ने लंपी वायरस के बाद हेल्पलाइन न भी जारी किए है ताकि कोई भी गौ-वंश संचालक हेल्पलाइन न पर संपर्क कर जानकारी दे सके। पशु पालन विभाग से मिले आकड़ो की हम बात करें तो जिले भर में 489 गौ वंश संक्रमित थे। जिसमें से 453 ठीक हो गए। जिला प्रशासन ने संक्रमण को देखते हुए गोट पॉक्स टिका है, उसे गुजरात से बुलाकर अभी तक 3 हजार लगा चुके है। लंपी वायरस का संक्रमण सिर्फ गौ वंश पर आ रहा है। पशु पालन विभाग से मिले आंकड़े की बात करे तो अभी तक 8 गौ-वंशो की मौत हो चुकी है। लंपी वायरस का संभावित आंकड़ा भी काफी है। ग्रामीणों की माने तक ग्राम लोनी में ही 15 गौ-वंशों की मौत हुई है।

सरकारी आंकड़े से अधिक गौ-वंशों की हो रही मौत

पशु पालन विभाग के डॉक्टर हीरा सिंह भंवर ने कहा की इस संक्रमण का खतरा 4 गांवो में सबसे अधिक है, जिसमे बहादरपुर, लोनी, झिरी और बंभाडा में इसका असर ज्यादा देखने को मिल रहा है। निगम अध्यक्ष पति अमर यादव ने कहा की पशुओं की मौत लगातार हो रही है। प्रशासन को ध्यान देना चाहिए पर वो ध्यान नहीं दे रहे हैं। लालबाग क्षेत्र में हर दिन 2-4 से अधिक गौ वंशों की मौत हो रही है। लालबाग में अभी तक 10 से अधिक गौ-वंशो दम तोड़ दिया है। अमर यादव ने गौ-वंश संचालको से भी अपील की है की अगर लक्षण दिख रहे हो हेल्प लाइन नंबर पर बताये और हमें भी कॉल करे,हम आप पर पूरा ध्यान देंगे ।

70 साल बाद 17 सितम्बर को पहुंचेंगे 8 चीतेः अफ्रीकी चीतों की आगवानी को तैयार कूनो नेशनल पार्क
राजस्थान की सीमा लगने के कारण मंदसौर में खतरा अधिक

मंदसौर में भई लंपी वायरस ने पैर पसारना शुरू कर दिया है। जिले की 135 गांवों में 251 गौ-वंशों में लंपी वायरस के लक्षण है। सैंपल की रिपोर्ट देरी से आने के चलते अभी सिर्फ दो गायों में हुई लंपी वायरस की पुष्टि है। विभाग अब लक्षण दिखने वाली हर गाय को लंपी से पीड़ित मान रहा। जिले में लहाल 210 गाय स्वस्थ हो चुते हैं। पशुपालन अधिकारी का कहना अब तक जिले की राजस्थान सीमा से लगे इलाके में 13 हजार गायों को टीके लगा चुके हैं।

खंडवा में अबतक 8 गायों की मौत, 13 हजार से ज्यादा गो-वंशों का हो चुका वैक्सीनेशन

खंडवा में भी लंपी वायरल ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। जिले में अब तक कुल लंपी वाय़रस से संक्रमित 8 गायों की मौत हो चुकी है। खालवा में एक और पंधाना में 7 गायों की मौत हुई है। जिले में 13 हजार से ज्यादा गायों का वैक्सीमनेशन हो चुका है।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed

NEWS VIRAL