• Sat. Jun 15th, 2024

IAS अधिकारी अवनीश बनाए गए मुख्यमंत्री के सलाहकार, नियुक्ति का आदेश जारी

ByCreator

Sep 17, 2022    150821 views     Online Now 342

भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) से हाल ही में सेवानिवृत्त हुए अवनीश कुमार अवस्थी को मुख्यमंत्री का सलाहकार नियुक्त किया गया है. अवनीश अवस्थी फरवरी 23 तक इस पद पर बने रहेंगे. नियुक्ति विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है. विस्तार पाने की तमाम चचार्ओं के बीच 31 अगस्त को अवनीश अवस्थी सेवानिवृत्त हो गए थे.

अवनीश अवस्थी के पास गृह के अलावा गोपन, वीजा-पासपोर्ट, जेल प्रशासन एवं सुधार, सतर्कता विभाग, धर्मार्थ कार्य विभाग की जिम्मेदारी थी. वह यूपीडा और उप्र. स्टेट हाईवेज अथॉरिटी (उपशा) के म और डीजी जेल भी थे. ऊर्जा विभाग का अतिरिक्त चार्ज भी उनके पास था.

सेवा विस्तार के लिए नहीं मिली मंजूरी

यूपी कैडर के 1987 बैच के IAS अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी 31 अगस्त को सेवानिवृत्त हो गए थे. वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भरोसेमंद अधिकारियों में माने जाते रहे हैं, इसलिए उनकी सेवानिवृत्ति के पहले से ही सेवा विस्तार मिलने की अटकलें शुरू हो गई थीं. प्रदेश सरकार की ओर से सेवा विस्तार का प्रस्ताव भी भेजा गया. जिसे केंद्र से स्वीकृति नहीं मिली. उनके अनुभव और कार्यक्षमता को देखते हुए उन्हें अब मुख्यमंत्री का सलाहकार नियुक्त किया गया है.

सबसे पावरफुल ब्यूरोक्रेट

2017 में जब योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बने तब अवनीश अवस्थी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से वापस लौटे थे. पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य उन्हीं के CEO रहते हुए. बता दें कि अवनीश अवस्थी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के काफी भरोसेमंद और सबसे पावरफुल ब्यूरोक्रेट रहे हैं. अवस्थी 1984 के बाद सबसे लंबे समय तीन साल एक महीने तक गृह विभाग का मुखिया रहने का रिकॉर्ड बना गए. उनका कार्यकाल 1 अगस्त, 2019 से 31 अगस्त, 2022 तक रहा. इससे पहले आरसी टकरू का कार्यकाल नवंबर 1980 से मार्च 1984 तक का था.

See also  इस शेयर ने बाजार में की धमाकेदार कमाई,

धर्मार्थ कार्य विभाग की एक बैठक में भी थे शामिल

उल्लेखनीय है कि मृत्युंजय कुमार पहले से ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सलाहकार हैं. अब अवनीश कुमार अवस्थी को भी मुख्यमंत्री का सलाहकार बनाया गया है. वह मुख्यमंत्री को प्रशासनिक कार्यों में सलाह देंगे. हाल ही में उन्होंने मथुरा में धर्मार्थ कार्य विभाग की एक बैठक में हिस्सा लिया भी था. इसके बाद से ही उनकी नई भूमिका को लेकर चर्चाएं शुरू हो गई थीं.

इसे भी पढ़ें :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

NEWS VIRAL