• Fri. Apr 19th, 2024

आज से बदल जाएगा पीएफ खाते से जुड़ा ये

ByCreator

Sep 19, 2022    150815 views     Online Now 368

EPFO Rule Changed Today आज से बदल जाएगा पीएफ खाते से जुड़ा ये नियम, 6 करोड़ कर्मचारियों को देना होगा टैक्स : अगर आप कहीं नौकरी करते हैं और आपका पीएफ जमा ( PF Deposit ) है तो यह खबर आपके लिए बेहद जरूरी है। सरकार ने पीएफ ( Provident Fund ) से जुड़े नियमों में बदलाव किया है. अभी तक पीएफ अंशदान या उससे अर्जित ब्याज पर कोई टैक्स नहीं लगता था। लेकिन अब 2.5 लाख रुपये से अधिक के योगदान पर अर्जित ब्याज टैक्स के दायरे में आएगा। यह नियम 1 अप्रैल, 2022 से लागू होगा। आइए इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

EPFO Rule Changed Today

EPFO Rule Changed Today

EPFO Rule Changed Today

वित्त मंत्री ने की घोषणा

आपको बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2021 के बजट में इस संबंध में एक महत्वपूर्ण घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि कर्मचारी के ईपीएफ ( EPF ) में वर्ष में 2.5 लाख रुपये से अधिक के योगदान पर मिलने वाले ब्याज पर कर लगेगा। यह नियम 1 अप्रैल से लागू होगा।

इस कदम का असर उन लोगों पर पड़ेगा जिनकी आय ज्यादा है और वे ईपीएफ में ज्यादा योगदान करते हैं। लेकिन, सरकार ने कहा है कि इससे ईपीएफ में योगदान करने वाले 1 फीसदी से भी कम लोगों पर असर पड़ेगा। हालांकि इस नियम का काफी विरोध भी हुआ था। सरकार ने इसकी समीक्षा भी की। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने पिछले साल 31 अगस्त को एक सर्कुलर जारी कर ईपीएफ पर टैक्स के नए नियमों ( EPF Tax New Rules ) की जानकारी दी थी।

ये है ईपीएफ टैक्स का नया गणित (EPFO Rule Changed Today)

वित्त अधिनियम 2021 में एक नया प्रावधान जोड़ा गया है। इसमें कहा गया है कि यदि कोई कर्मचारी एक वित्तीय वर्ष में अपने भविष्य निधि ( Provident Fund ) में 2.5 लाख रुपये से अधिक का योगदान करता है, तो 2.5 लाख रुपये से अधिक के निवेश पर अर्जित ब्याज किसके दायरे में आएगा? कर। सीधे शब्दों में कहें तो अगर कोई 3 लाख रुपये का निवेश ( Investment ) करता है तो अतिरिक्त 50000 रुपये पर मिलने वाले ब्याज ( Interest ) पर टैक्स लगेगा।

हालांकि, ऐसे कर्मचारियों के मामले में जिनका भविष्य निधि ( PF ) में कोई कंपनी अंशदान नहीं है, यह सीमा 2.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये की जाएगी। वहीं, केंद्रीय कर्मचारियों के लिए भी यह सीमा 5 लाख रुपये होगी।

दो तरह के अकाउंट बनेंगे

नए नियमों के मुताबिक अब भविष्य निधि ( Provident Fund ) में दो खाते बनेंगे. पहला- कर योग्य खाता और दूसरा- गैर-कर योग्य खाता। सीबीडीटी ने इसके लिए नियम 9डी अधिसूचित किया, जिसमें भविष्य निधि अंशदान (ईपीएफ अंशदान पर कर) पर प्राप्त ब्याज ( Interest ) पर कर की गणना की जाएगी। नया नियम 9डी बताता है कि कर योग्य ब्याज की गणना कैसे की जाएगी। साथ ही दो अकाउंट कैसे मैनेज करें और कंपनियों को क्या करना होगा।

यह भी जानें :- 

How to Check EPF Balance Online : ऐसे चेक करें EPF Account का बैलेंस , यह है प्रक्रिया

LIC New Jeevan Shanti Plan : एक बार देना होगा प्रीमियम, मिलती रहेगी जीवनभर पेंशन, जानिए डिटेल्स

Public Provident Fund Scheme : PPF Account मे निवेश करने पर 1 करोड़ 17 लाख रूपए मिलेंगे, जाने डिटेल्स

Related Post

पूर्व सीएम डॉक्टर रमन सिंह के प्रमुख सचिव रहे अमन सिंह के खिलाफ दर्ज केस कोर्ट ने किया बंद, EOW-ACB की क्लोजर रिपोर्ट के बाद फैसला
शादी कार्ड बांटने गए युवक की ट्रेन से कटकर हुई मौत, ग्रामीण हत्या की जता रहे हैं आशंका…
हैदराबाद में BJP कैंडिडेट का मस्जिद की तरफ इशारा…और मच गया बवाल, भड़के ओवैसी | BJP candidate points towards mosque in Hyderabad creates ruckus Owaisi gets angry

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed

NEWS VIRAL